UPPSC Preliminary Exam Syllabus in Hindi (General Studies – Paper 1 & CSAT Paper 2)

0 11

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC ) प्रारम्भिक परीक्षा का पाठ्यक्रम हिंदी में।

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित इस प्रतियोगी परीक्षा में सामान्यत: क्रमवार तीन स्तर सम्मिलित हैं-

  • प्रारम्भिक परीक्षा – वस्तुनिष्ठ प्रकृति
  • मुख्य परीक्षा – पारंपरिक लिखित (वर्णनात्मक) प्रकृति
  • साक्षात्कार –  मौखिक

उत्तर प्रदेश लोक सेवा प्रारम्भिक परीक्षा कुल 400 अंक की होती है जिसमें

  • प्रथम पेपर सामान्य अध्ययन (General Studies)
  • द्वितीय पेपर सीसैट (CSAT)
  • प्रारम्भिक परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रकृति (Objective Type) के प्रश्न पुछे जाते है।
  • दोनों प्रश्न पत्र 200-200 अंको के होते हैं। पहले प्रश्नपत्र (सामान्य अध्ययन) में कुल 150 प्रश्न होते है जबकि दूसरे प्रश्नपत्र (सीसैट) में कुल 100 प्रश्न होते हैं।
  • आयोग (UPPSC) ने प्रारम्भिक परीक्षा के CSAT में 33% Minimum Qualifying Marks निर्धारित किया गया है।
  • CSAT पेपर में कम से कम 200 का 33% यानि 66 अंक जरूर लाना होगा नही तो Mains Exam में प्रवेश नही मिलेगा!

:: General Studies सामान्य अध्ययन पेपर – 1 ::

अवधि-दो घण्टे, अंक – 200 Marks

General Studies सामान्य अध्ययन पेपर-1 का पाठ्यक्रम निम्नलिखित है:-

  1. राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनायें:-राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की समसामयिक घटनाओं पर अभ्यर्थियों को जानकारी रखनी होगी।
  2. भारत का इतिहास एवं भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलनःइतिहास के अन्तर्गत भारतीय इतिहास के सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक पक्षों की व्यापक जानकारी पर विशेष ध्यान देना होगा। भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन पर अभ्यर्थियों से स्वतंत्रता आन्दोलन की प्रकृति तथा विशेषता, राष्ट्रवाद का अभ्युदय तथा स्वतंत्रता प्राप्ति के बारे में सामान्य जानकारी अपेक्षित है।
  3. भारत एवं विश्व का भूगोलःभारत एवं विश्व का भौतिक, सामाजिक एवं आर्थिक भूगोलः विश्व भूगोल में विषय की केवल सामान्य जानकारी की परख होगी। भारत का भूगोल के अन्तर्गत देश के भौतिक, सामाजिक एवं आर्थिक भूगोल से सम्बन्धित प्रश्न होंगे।
  4. भारतीय राजनीति एवं शासन-संविधान,राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, लोकनीति, आधिकारिक प्रकरण आदिः भारतीय राज्य व्यवस्था, अर्थव्यवस्था एवं संस्कृति के अन्तर्गत देश के पंचायती राज तथा सामुदायिक विकास सहित राजनीतिक प्रणाली के ज्ञान तथा भारत की आर्थिक नीति के व्यापक लक्षणों एवं भारतीय संस्कृति की जानकारी पर प्रश्न होंगे।
  5. आर्थिक एवं सामाजिक विकास- सतत विकास,गरीबी अन्तर्विष्ट जनसांख्यिकीय, सामाजिक क्षेत्र के इनिशियेटिव आदिः अभ्यर्थियों की जानकारी का परीक्षण जनसंख्या, पर्यावरण तथा नगरीकरण की समस्याओं तथा उनके सम्बन्धों के परिप्रेक्ष्य में किया जायेगा।
  6. पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी सम्बन्धी सामान्य विषय जैव विविधता एवं जलवायु परिवर्तनःइस विषय में विषय विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं है। अभ्यर्थियों से विषय की सामान्य जानकारी अपेक्षित है।
  7. सामान्य विज्ञानःसामान्य विज्ञान के प्रश्न दैनिक अनुभव तथा प्रेक्षण से सम्बन्धित विषयों सहित विज्ञान के सामान्य परिबोध एवं जानकारी पर आधारित होंगे, जिसकी किसी भी सुशिक्षित व्यक्ति से अपेक्षा की जा सकती है, जिसने वैज्ञानिक विषयों का विशेष अध्ययन नहीं किया है।

नोटः अभ्यर्थियों से यह अपेक्षित होगा कि उत्तर प्रदेश के विशेष परिप्रेक्ष्य में उपर्युक्त विषयों का उन्हें सामान्य परिचय हो।

:: CSAT सीसैट पेपर – 2 ::

अवधि-दो घण्टे, अंक – 200 Marks

प्रारम्भिक परीक्षा के प्रश्नपत्र-2 का संबंध ‘सीसैट’ से है इसका पाठ्यक्रम निम्नलिखित है-

(यह एक qualifying होगा जिसमें 33% अंक लाना अनिवार्य है)

  • काम्प्रिहेन्सन (विस्तारीकरण)
  • अन्तर्वैयक्तिक क्षमता जिसमें सम्प्रेषण कौशल भी समाहित होगा।
  • तार्किक एवं विश्लेषणात्मक योग्यता।
  • निर्णय क्षमता एवं समस्या समाधान।
  • सामान्य बौद्धिक योग्यता।
  • प्रारम्भिक गणित हाईस्कूल स्तर तक- अंकगणित, बीजगणित, रेखागणित व सांख्यिकी।
  • सामान्य अंग्रेजी हाईस्कूल स्तर तक।
  • सामान्य हिन्दी हाईस्कूल स्तर तक।
  • प्रारम्भिक गणित (हाईस्कूल स्तर तक) के पाठ्यक्रम में सम्मिलित किये जाने वाले विषय
  1. अंकगणितः
  • संख्या पद्धतिः प्राकृतिक, पूर्णांक, परिमेय-अपरिमेय एवं वास्तविक संख्यायें, पूर्णांक संख्याओं के विभाजक एवं अविभाज्य पूर्णांक संख्यायें। पूर्णांक संख्याओं का लघुत्तम समापवत्र्य एवं महत्तम समापवत्र्य तथा उनमें सम्बन्ध।
  • औसत
  • अनुपात एवं समानुपात
  • प्रतिशत
  • लाभ-हानि
  • ब्याज- साधारण एवं चक्रवृद्धि
  • काम तथा समय
  • चाल, समय तथा दूरी
  1. बीजगणित:
  • बहुपद के गुणनखण्ड, बहुपदों का लघुत्तम समापवत्र्य एवं महत्तम समापवत्र्य एवं उनमें सम्बन्ध, शेषफल प्रमेय, सरल युगपत समीकरण, द्विघात समीकरण
  • समुच्चय सिद्धान्तः समुच्चय, उप समुच्चय, उचित उपसमुच्चय, रिक्त समुच्चय, समुच्चयों के बीच संक्रियायें (संघ, प्रतिछेद, अन्तर, समिमित अन्तर), बेन-आरेख
  1. रेखागणितः
  • त्रिभुज, आयत, वर्ग, समलम्ब चतुर्भुज एवं वृत्त की रचना एवं उनके गुण सम्बन्धी प्रमेय तथा परिमाप एवं उनके क्षेत्रफल,
  • गोला, समकोणीय वृत्ताकार बेलन, समकोणीय वृत्ताकार शंकु तथा धन के आयतन एवं पृष्ठ क्षेत्रफल।
  1. सांख्यिकीः
  • आंकड़ों का संग्रह, आंकड़ों का वर्गीकरण, बारम्बारता, बारम्बारता बंटन, सारणीयन, संचयी बारम्बारता, आंकड़ों का निरूपण, दण्डचार्ट, पाई चार्ट, आयत चित्र, बारम्बारता बहुभुज, संचयी बारम्बारता
  • वक्र, केन्द्रीय प्रवृत्ति की माप- समान्तर माध्य, माध्यिका एवं बहुलक।

General English Up to Class X Level

  1. Comprehension
  2. Active Voice and Passive Voice
  3. Parts of Speech
  4. Transformation of Sentences
  5. Direct and Indirect Speech
  6. Punctuation and Spellings
  7. Words meanings
  8. Vocabulary & Usage
  9. Idioms and Phrases
  10. Fill in the Blanks

सामान्य हिन्दी (हाईस्कूल स्तर तक) के पाठ्यक्रम में सम्मिलित किये जाने वाले विषय

(1) हिन्दी वर्णमाला, विराम चिन्ह

(2) शब्द रचना, वाक्य रचना, अर्थ

(3) शब्द-रूप

(4) संधि, समास

(5) क्रियायें

(6) अनेकार्थी शब्द

(7) विलोम शब्द

(8) पर्यायवाची शब्द

(9) मुहावरे एवं लोकोक्तियां

(10) तत्सम एवं तद्भव, देशज, विदेशी (शब्द भंडार)

(11) वर्तनी

(12) अर्थबोध

(13) हिन्दी भाषा के प्रयोग में होने वाली अशुद्धियाँ

(14) उ0प्र0 की मुख्य बोलियाँ

Note: – UPPSC Exam नेगेटिव मर्किंग (Negative Marking=1/3 or 0.33%)

You might also like

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.