Important Organizations during Freedom Movement

कांग्रेस की पूर्ववर्ती संस्थाएँ  (Previous Congress Institutions)

कलकत्ता

  • बंगभाषा प्रकाशक सभा- 1836
  • जमींदारी एसोसिएशन (लैंड होल्डर्स सोसायटी )- 1838, द्वारकानाथ टैगोर द्वारा
  • बंगाल ब्रिटिश इंडिया सोसायटी- 1843
    ब्रिटिश इंडियन एसोसिएशन -1851, (जमींदारी एसोसिएशन और बंगाल ब्रिटिश इंडिया सोसायटी को मिलाकर )
  • इंडियन लीग – 1875, शिशिर कुमार घोष
  • इंडियन नेशनल एसोसिएशन (इंडियन एसोसिएशन ऑफ कलकत्ता)-1876, सुरेन्द्रनाथ बनर्जी और आनंद मोहन बोस द्वारा

बॉम्बे

  • बॉम्बे एसोसिएशन- 26 अगस्त, 1852
  • पूना सार्वजनिक सभा – 1867, महादेव गोविंद रानाडे
  • बॉम्बे प्रेसीडेंसी एसोसिएशन- 1885, बदरुद्दीन टाइय्य्ब्जि, फिरोज़शाह मेहता, और के. टी। तैलंग

मद्रास

  • मद्रास महाजन सभा- 1884, एम. वीरराघवाचारी, बी. सुब्रमण्यम अय्यर और पी. आनंद चार्लू

लंदन

  • ईस्ट इंडिया एसोसिएशन- 1866, दादा भाई नौरोजी

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (Indian National Congress)

परिचय :

  • स्थापना: ए. ओ. हयूम द्वारा दिसम्बर, 1885
  • ए. ओ. हयूम: अवकाश प्रपट अंग्रेज़ आई. सी. एस. अधिकारी
  • प्रारंभिक नाम “भारतीय राष्ट्रीय संघ” , दादा भाई नौरोजी के सुझाव पर किया गया “भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस
    स्थापना के समय भारत के वायसराय लॉर्ड डफरिन

प्रमुख अधिवेशन (Major Session)

प्रथम अधिवेशन : 1885

  • अध्यक्ष: व्योमेश चन्द्र बनर्जी
  • महत्व: प्रथम अधिवेशन

अधिवेशन : 1886

  • अध्यक्ष: दादा भाई नौरोजी (प्रथम गैर हिन्दू अध्यक्ष)
  • महत्व: राष्ट्रीय काँग्रेस एवं राष्ट्रीय क्रोन्फ्रेंस का विलय

अधिवेशन : 1887

  • स्थान: मद्रास
  • अध्यक्ष: सैयद बदरुद्दीन तै ययबजी
  • महत्व: प्रथम मुस्लिम अध्यक्ष

अधिवेशन : 1888

  • स्थान: इलाहाबाद
  • अध्यक्ष: जॉर्ज यूले
  • महत्व: यूरोपीय निर्वाचित अध्यक्ष

अधिवेशन : 1890

  • स्थान: कलकत्ता
  • अध्यक्ष: फिरोज़शाह मेहता
  • महत्व: कलकत्ता विश्वविद्यालय की पहली महिला स्नातक कादंबिनी गांगुली ने काँग्रेस अधिवेशन को संबोधित किया।

अधिवेशन : 1896

  • स्थान: कलकत्ता
  • अध्यक्ष: रहमतुल्ला एम. सयानी
  • महत्व: पहली बार राष्ट्रीयगीत ” वंदे मातरम” गाया गया।

अधिवेशन : 1905

  • स्थान: बनारस
  • अध्यक्ष: गोपालकृष्ण गोखले
  • महत्व: बांग – भंग और कर्ज़न की प्रीतिक्रियावादी नीतियों की आलोचना
  • स्वदेशी व बहिष्कार का समर्थन

अधिवेशन : 1906

  • स्थान: कलकत्ता
  • अध्यक्ष: दादाभाई नौरोजी
  • महत्व: दादाभाई नौरोजी द्वारा काँग्रेस के मंच से पहली बार “स्वराज” शब्द का प्रयोग

अधिवेशन : 1907

  • स्थान: सूरत
  • अध्यक्ष: रासबिहारी घोष
  • महत्व: काँग्रेस का नरम दल एवं गरम दल में विभाजन

अधिवेशन : 1911

  • स्थान: कलकत्ता
  • अध्यक्ष: बिशन नारायण धर
  • महत्व: पहली बार राष्ट्रगान ” जन गण मन” गाया गया

अधिवेशन : 1915

  • स्थान: बंबई
  • अध्यक्ष: सत्येंद्र प्रसन्न सिन्हा
  • महत्व: लॉर्ड विलिंगटन (उस समय बंबई का गवर्नर ) ने भाग लिया

अधिवेशन : 1916

  • स्थान: लखनऊ
  • अध्यक्ष: अंबिका चरण मजूमदार
  • महत्व: गरम दल एवं नरम दल में समझौता
  • काँग्रेस और मुस्लिम लीग में समझौता

अधिवेशन : 1917

  • स्थान: कलकत्ता
  • अध्यक्ष: एनी बेसेंट (पहली महिला अध्यक्ष)

अधिवेशन : 1920

  • स्थान: नागपुर
    अध्यक्ष: सी. विजयराघवा चारियार
  • महत्व: पहली बार देशी रियासतों के प्रति नीति घोषित
  • असहयोग आंदोलन के कार्यक्रम का अनुमोदन

अधिवेशन : 1922

  • स्थान: गया (बिहार)
  • अध्यक्ष: चितरंजन दास
  • महत्व: स्वराज पार्टी की स्थापना का प्रस्ताव

अधिवेशन : 1924

  • स्थान: बेलगांव
  • अध्यक्ष: महात्मा गांधी

अधिवेशन : 1925

  • स्थान: कानपुर
  • अध्यक्ष: सरोजनी नायडू (प्रथम भारतीय महिला अध्यक्ष)

अधिवेशन : 1927

  • स्थान: मद्रास
  • अध्यक्ष: एम. ए. अंसारी
  • महत्व: साइमन कमीशन के बहिष्कार का प्रस्ताव पारित

अधिवेशन : 1929

  • स्थान: लाहौर
  • अध्यक्ष: जवाहरलाल नेहरू
  • महत्व: “पूर्ण स्वराज” की मांग

अधिवेशन : 1931

  • स्थान: कराची
  • अध्यक्ष: सरदार वल्लभभाई पटेल
  • महत्व: गांधी-इरविन समझौते का अनुमोदन
  • मूल अधिकार का प्रस्ताव
  • राष्ट्रीय आर्थिक कार्यक्रम को स्वीकृति

अधिवेशन : 1934

  • स्थान: बंबई
  • अध्यक्ष: राजेंद्र प्रसाद
  • महत्व: काँग्रेस समाजवादी दल की स्थापना

अधिवेशन : 1936

  • स्थान: लखनऊ
  • अध्यक्ष: जवाहरलाल नेहरू

अधिवेशन : 1937

  • स्थान: फैजपुर
  • अध्यक्ष: जवाहरलाल नेहरू
  • महत्व: प्रथम अधिवेशन जो गाँव में हुआ।

अधिवेशन : 1938

  • स्थान: हरिपुरा
  • अध्यक्ष: सुभाष चन्द्र बोस
  • महत्व: जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में “राष्ट्रीय योजना समिति” का गठन

अधिवेशन : 1939

  • स्थान: त्रिपुरी
  • अध्यक्ष: सुभाष चन्द्र बोस
  • महत्व: महात्मा गांधी और सुभाष चन्द्र बोस के बीच मतभेद की वजह से बोस ने इस्तीफा दे दिया।
  • राजेंद्र प्रसाद ने अध्यक्ष के तौर पर कम किया

अधिवेशन : 1940

  • स्थान: रामगढ़
  • अध्यक्ष: मौलाना अबुल कलाम आजाद

अधिवेशन : 1946

  • स्थान: मेरठ
  • अध्यक्ष: जे. बी. कृपलानी
  • आजादी के वक्त काँग्रेस के अध्यक्ष

काँग्रेस से संबंधित अन्य तथ्य

  • 1932 और 1933 के अधिवेशन में मदन मोहन मालवीय अध्यक्ष चुने गए लेकिन जेल में होने की वजह से उनकी जगह पर अमृत रणछोड़दास सेठ और नलिनी सेन गुप्ता ने कार्यकारी अध्यक्षता की।
  • 1930, 1935 और 1941-45 में काँग्रेस के अधिवेशन आयोजित नही हुए।
  • लोकमान्य तिलक काँग्रेस के कभी अध्यक्ष नहीं बने।
  • दादाभाई नौरोजी और जवाहरलाल नेहरू 3-3 बार अध्यक्ष बने।

सिद्धांत:

  • सेफ़्टी वौल्ब सिद्धांत – लाला लाजपत राय
  • तड़ित चालक सिद्धांत – गोपाल कृष्ण गोखले

कथन :

  • कॉंग्रेस अपने पतन की ओर लड़खड़ाती हुई जा रही है- लॉर्ड कर्ज़न
  • काँग्रेस के लोग पदों के भूखे है- बंकिम चन्द्र बनर्जी
  • काँग्रेस जनता के उस अल्पसंख्यक वर्ग का प्रतिनिधित्व करती है, जिसकी संख्या शून्य है- लॉर्ड डफरिन

अन्य प्रमुख संस्थाएँ (Other major institutions)

मुस्लिम लीग

  • स्थापन : 1906
  • संस्थापक : नवाब सलीमुल्लाह खाँ और आगा खाँ
  • बाद में मोहम्मद आली जिन्ना प्रमुख नेता बने।

स्वराज पार्टी

  • स्थापन : 1923
  • संस्थापक : मोतीलाल नेहरू और चितरंजन दास

हिन्दू महासभा

  • स्थापन : 1915
  • संस्थापक : मदन मोहन मालवीय

अकाली दल

  • स्थापन : 1920
  • शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति की स्थापना
  • उद्देश्य: सिक्ख गुरुद्वारों को ब्रिटिश समर्थक और भ्रष्ट महंतों के चंगुल से मुक्त करना ।

सरवेंट्स ऑफ इंडिया सोसाइटी

  • स्थापन : 1905
  • संस्थापक : गोपाल कृष्ण गोखले

हिंदुस्तान रिपब्लिक एसोसिएशन

  • स्थापन : 1906
  • संस्थापक : शचींद्रनाथ सान्याल, योगेश चटर्जी और रामप्रसाद बिस्मिल

हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिक एसोसिएशन

  • स्थापन : 1928
  • संस्थापक : चन्द्रशेखर आजाद

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी

  • स्थापन : 1920
  • संस्थापक : एम. एन. रॉय द्वारा